भाभी और ननद का न्यूड वाला प्यार


रात को मैं उस कमरे में पहुंची. कमरे में अंधेरा था उस समय. उसने अंधेरे में ही मुझे एक ग्लास थमाया और बोली- भाभी यह दूध पी लो!
मैंने उस समय आधा दूध पिया और आधा बचा हुआ मेरा झूठा दूध प्रीति ने पी लिया।
उसके बाद प्रीति ने कहा- भाभी, मैं कमरे की लाईट जला रही हूँ आप अपना दिल मजबूत रखना और अपना इगो हट मत करना.
मैंने कहा- मैं कोशिश करूँगी.

जब उसने कमरे की लाईट जलाई तो मैं दंग रह गई, दीवारों पर जगह जगह गंदे गंदे शब्दों के प्रिन्ट और बहुत सारी उसकी और हमारी कम्पयूटर से एडिट की गई नग्न फोटो लगी थी.
यह देखकर एक बार मेरा दिमाग खराब हो गया और मैंने चीख कर उसको एक थप्पड़ लगा दिया तो वो बोली- सॉरी भाभी … आपका इगो बहुत ज्यादा हट हो गया. मैं माफी मांगती हूँ.
और रोती हुई बोली- मैं अभी ये फोटो हटा देती हूँ.

तो फिर उसने कुछ फोटो हटाई तो फिर पता नहीं मुझे क्या हुआ कि मैंने उसको ऐसा करने से मना कर दिया और बोली- नहीं हटाओ, रहने दो … अभी हम दोनों के सिवा कौन है यहाँ।
इसके बाद उसने मुझे बैड पर बिठाया और फ्रिज में से केक निकाल कर बाहर रखा और बोली- यह मेरे अच्छी दोस्त के लिए जो आज दुल्हन की तरह सजी है.

उसके बाद उसने एक एक करके मेरे सारे कपड़े उतारे और बोली- अब आप नंगी अच्छी नहीं लगती, आप यह गाउन पहन लो.
तो मैंने वो शार्ट गाउन पहन लिया लेकिन अंदर कुछ नहीं पहना.

इसके बाद हम दोनों ने एक दूसरे के साथ 69 लेस्बियन सेक्स किया, चूत चाटी और हम दोनों ननद भाभी अपनी चरमसीमा पर पहुँच कर स्खलित हो गयी.
इतना करने के बाद हम आराम करने लगी।
तभी मुझे नींद आ गई, रात के करीब 12 थे, मेरी आँख लग गई और मैं सो गई।

मैंने रात के दो बजे के करीब मेरे शरीर में कुछ हलचल महसूस की, मैं जाग गई तो देखा कि प्रीति मेरे गाउन के ऊपर से मेरे मम्मे दबा रही थी और एक चूस रही थी।
मैं चौंक गई और प्रीति को परे धकेल दिया, पर वो दोबारा से शुरू हुई और मेरे साथ जबरदस्ती करने लगी। मैंने उसे बहुत रोकने की कोशिश की पर कोई फायदा नहीं हुआ। उसने मेरे हाथों को ऊपर की ओर करके बाँध दिया। अब तो मैं पूरी बेबस हो गई।

फिर वो मेरे ऊपर आई और मेरे होंठों को चूमने लगी। उससे मेरे पूरे शरीर में करंट सा लगा, मेरी चूत में पानी आने लगा क्योंकि मुझे भी अब कुछ कुछ हो रहा था।
प्रीति मुझे चुम्बन करते-करते मेरे मम्मे भी दबाते जा रही थी, पर मैं क्या करती, मेरे हाथों को उसने बाँधा हुआ था। थोड़ी देर में मुझे भी अच्छा लगने लगा, तो मैं भी उसका साथ देने लगी।
उसे पता चल गया कि मुझे अब मजे आने लगे हैं तो उसने मेरे मेरे प​तले से गाउन को जोर से खींचा तो वो ऊपर से बहुत ज्यादा फट गया जिसके कारण मेरे दोनों स्तन बाहर आ गये और वो मेरे दोनों चूचुकों को चूसने लगी।

अब मेरे होश तो ही उड़ने लगे और मेरी योनि और ज्यादा गीली हो गई और इधर प्रीति खुद पूरी नंगी हो गई, मेरे ऊपर आ गई और मेरे चूचुकों को चूसने लगी।
मुझे कुछ हो रहा था, वो मेरे चूचुकों को चूसे जा रही थी, मैं तो पागल सी हुई जा रही थी। चूचुकों को चूसते-चूसते वो नीचे की ओर चली गई और मेरी नाईटी को थोड़ा जोर लगा कर खींच कर फाड़ दी. मैं तो बहुत लाज महसूस कर रही थी कि मैं अब पूरी नंगी थी।

अब वो आगे बढ़ी और मेरी योनि चूत चूसने लगी, उसने थोड़ा सा चूसा और मैं झड़ गई।
मैं बहुत दिनों बाद इस तरह के झड़ने का आनन्द महसूस कर रही थी, मैं जैसे ही झड़ गई, तो मेरी पूरी ताकत खत्म हो गई और मैं बेड पर निढाल सी हो गई।

थोड़ी देर बाद उसने मेरे हाथों को खोल दिया तो मैं उससे चिपक गई और उसका आभार किया, तो वो भी मेरे मम्मों को जोर से दबा कर हँस पड़ी।
मेरे मम्मे और चूचुक दर्द कर रहे थे।
थोड़ा आराम करने के बाद वो मुझसे बोली- चलो, भाभी एक और बड़ी मस्ती दिखाती हूँ आपको!
तो मैंने भी ‘हाँ’ कर दी.

और वो फ़िर से शुरू हुई, मुझे चुम्बन किया, मेरे चूचुकों को चूसा, मेरी चूत चूसने लगी और एक उंगली मेरी चूत में डालने लगी थी, मैं उसको मना करने लगी, पर वो कहाँ मानने वाली थी। वो जोर से उंगली करने लगी। मैं तड़फने लगी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ पर तब भी वो कहाँ रूकने वाली थी, उसने और एक उंगली अन्दर डाली, तो मैं और जोर से तड़फने लगी और एक हल्की सी चीख मार कर झड़ गई।

इसके बाद मैं मौका पाकर अचानक से उठी और उसके ऊपर आकर जोर से चुम्बन करने लगी और और चूचुकों को दांतों से चबाने लगी. प्रीति भी गर्म हो चुकी थी और वो भी मेरा साथ देने लगी। फिर मैंने उसकी योनि के नीचे चार तकिये लगा दिये जिसके कारण उसकी योनि बहुत ज्यादा ऊपर उठ गई और मैंने फ्रिज खोलकर उसमें से एक बाउल निकाल कर रसमलाई एवं स्पंज रसगुल्ले निकाल कर एक रसगुल्ले को योनि के ऊपर उसको निचोड़ दिया उसका ठंडा ठंडा रस जैसे ही उसकी योनि में गिरा उसका टांगें काम्प गई, मुख से हल्की सी चीख निकल गई.
फिर मैं कभी रसमलाई तो कभी रसगुल्ला उसकी योनि पर रखकर चाटती व चूसती रही. आखिर एक कुंवारी लड़की कब तक इतना सहन करती, वो भी दो तीन हल्की सी चीखें मार कर एवं अपनी कमर को झटके मार कर झड़ गई और हाम्फने लग गई और मुझे ‘आई लव यू भाभी …’ और ‘प्यारी दोस्त’ बोल कर गले से लगा लिया.

Pages: 1 2 3 4

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Online porn video at mobile phone


sex kahani indianhindisexstorisbaap ne beti ko choda hindi storyindian sex stobaap beti ki chudai hindimaa desi storylove making stories in hindirandio ki kahanimuje chodabeti ne baap se chudaiantarvasna.usbaap or beti ki chudaiaunty ki antarvasnaantervasna imageschudai ka mazabaap ne beti ko choda hindi storysexkahaniaantarvasna desi sex storiestamanna sex storiesmaa ne mujhse chudwayabaap aur beti ki chudaidesi khniantravas storyantevasin in hindihema malini sex storyantarvasna with picsanter vashana combaap beti ki chudai comantar vasana story wallpapersdeso kahanijyothika sex storiessex stories hyderabadmaine apni beti ko chodamaa ki moti gaandhot navel kiss storiesantarvasna story photoskamwali ki chudai ki kahanisasur ne khet me chodaaunty ko blackmail kiyapapa ne choda in hindibiwi ka rapeantarvasna imagesbeti ne baap ko patayabaap ne beti ko choda storydeshi kahaniyaantarvasna story photosnaukrani ka rape kiyaindiansexstroiesbehan ko chodbhai ne chodadesi kahniantarvasna story with picmastram ki sexy kahaniwww desi sex stores commaa ki burbeti ki chodaidesisexkahanisex kahani hindi maaantetvasna.comma ki gaandantarvasna indian sex storymaa ko pelananga pariwarchoti beti ko chodasexkhanimaine didi ko chodamaa ki moti gandmuje chodama ki chudchut me khujlisex kahani mami kipyasi bhabhi ki kahaniantarvasna desi sex storiesantarasnamaine apni beti ko choda