दोस्त के भाई की शादी में सुहागरात


तब तक मधु भाभी हमारे पास आ चुकी थी और वह मेरे सामने वाले सोफे पर बैठ गई और बैठते ही उनकी नजर मुझ पर पड़ी।
मधु भाभी- यह तुम्हारे साथ कौन है दीपक?
दीपक- भाभी, यह मेरा दोस्त विचित्रगुप्त है। मेरे साथ ही पढ़ता है।
“और आप कुछ नहीं बोलेंगे?” मधु भाभी ने मुझसे कहा।
“जी वो …” मैं लड़खड़ाते हुए बोला- मैं क्या बताऊं?

दरअसल मैं कब से माधु भाभी को ही देखे जा रहा था, ऊपर से नीचे तक उनके शरीर के एक-एक अंग को देख रहा था। और अचानक हुए इस सवाल से मैं थोड़ा हक्का बक्का रह गया था। मुझे उम्मीद नहीं थी कि भाभी मुझसे कोई सवाल कर देंगी।
शायद उन्होंने देख लिया था कि मेरी नजर तो उनकी बूब्स और कमर पर है।

उनकी बातें चलती रही और मैं मधु भाभी को गौर से देखता रहा। वह मुस्कुरा मुस्कुरा कर सब से बाते कर रही थी।
तभी सूरज भैया बोले- अरे, जब से आए हो यहीं हॉल में बैठे हो, जाओ अपने कमरे में जा कर आराम करो। सफर से आये हो, थक गए होगे, और अपने दोस्त को भी ले जाओ।
उसके बाद हम दोनों ऊपर उसके कमरे में चले गए।

कमरे में जाते ही सबसे पहले हम बारी बारी से नहाये और फ्रेश होकर हल्का टीशर्ट और पजामा पहन लिया। उसके बाद बेड पर लेट कर आराम करने लगे।
तब दीपक बोला- क्यों कैसी लगी मेरी मधु भाभी?
तब मैंने कहा- मत पूछ यार … मज़ा आ गया। दिल में तरंगें बज उठी। यार … क्या कामुक महिला है। उसके यूं चलने का अंदाज़, ये कमर मटकाती, बाल लहराती और कातिलाना मुस्कान। क्या बूब्स है आहा… क्या कमर है … क्या गांड है। और उनकी बड़ी नाभि आहा … पूरा का पूरा यौवन ही लाजवाब है। दीपक मुझे वो चाहिए, मुझे मधु भाभी चाहिए। प्लीज यार दीपक, मुझसे चुदवा दो, मधु भाभी को मुझसे चुदवा दो। मुझे मधु भाभी को चोदना है,चोदना है मुझे। उसकी कमर, उसके बूब्स, उसकी मटकाती गांड सब चाहिए मुझे। उसका पूरा का शरीर चाहिए मुझे। उसके पूरे यौवन का मज़ा लेना चाहता हूं। मैं उसके एक-एक अंग के मज़े लूंगा।

अब दीपक समझ चुका था कि मैं मधु भाभी के यौवन में गिरफ्तार हो चुका हूं और बिना उसे चोदे मैं नहीं रह पाऊंगा।
दीपक- संभालो अपने आप को दोस्त! उस कामसुंदरी को देख कर तो मैं भी अपना लन्ड खड़ा होने से नहीं रोक सकता हूं, तो तुम क्या हो। दोस्त तुम नहीं जानते कि अपने आप को मैं कैसे संभाल पा ता हूं। पढ़ाई में मेरा मन बिल्कुल नहीं लगता है। फिर भी जैसे तैसे अपने आप को कानपुर में लगाये रहता हूं। मेरा तो मन करता है कि पढ़ाई छोड़ कर मथुरा आ जाऊं और दिन रात मधु भाभी की गोद में सोया रहूं, इस यौवन का रसपान करता रहूं। घर में इतना सुंदर माल है, उसे चोदता रहूं। पर सब काम संभाल कर करना पड़ता है। ऐसे होश खोओगे तो काम नहीं चलेगा; समझे?
“ठीक है दोस्त!” मैंने कहा।

शाम होने वाली थी, मैं जरा हवेली में घूम रहा था। घूम क्या रहा था, यूं कहिए कि मधु भाभी को ढूंढ रहा था। मैं आगे की ओर देखते पीछे चल रहा, तभी अचानक मधु भाभी मुझसे टकरा गई और हम दोनों ही गिर पड़े। मधु भाभी नीचे और मैं उसके ऊपर पर मैं पेट के बल भाभी पर नहीं गिरा था, पीठ के बल गिरा था। लेकिन फिर भी उसके उन्नत स्तन मेरी पीठ से दब गये। मैं तो सर से पैव तक हिल गया।
मैं जल्दी से उठा।

मधु भाभी- तो देवर जी की नजर किधर और किसको ढूंढ रही थी?
“नहीं तो … किसी को तो नहीं!” मैं घबराते हुए बोला।
“आप ठीक तो हैं न भाभी?” मैंने पूछा।
“हाँ!” मधु भाभी ने कहा।

मैं मधु भाभी की बस देखे ही जा रहा था, अब भाभी ने साड़ी पहनी हुई थी.
तभी भाभी चुटकी बजाती हुई बोली- क्या बात है, ऐसे क्या देख रहे हो?
मैंने कहा- नहीं … कुछ तो नहीं, बस ऐसे ही।
“बस ऐसे ही?” मधु भाभी ने कहा।
मुझे लगा कि कहीं भाभी नाराज़ हो जाये, मैंने तुंरत बोल दिया- भाभी आप बहुत खूबसूरत हो। आपके लिप्स कमाल के हैं.
इतना बोलना था कि भाभी हंसने लगी। मुझे तो लग रहा था कि मैंने ऐसा क्या कह दिया? पर तसल्ली थी कि भाभी बुरा नहीं माना।
और फिर मैंने सोचा कि वो बुरा भी क्यों मानेगी, जो अपने देवर से चुदवाती हो तो भला इतना कहने से क्यों बुरा मानेगी।

मैंने नजर जरा नीचे झुकाई तो मैंने देखा कि भाभी की दूधिया कमर मस्त लग रही थी।
तभी भाभी ने कहा- क्यों नीचे कहाँ देख रहे हो?
मैं चौंका और नजर ऊपर कर ली।

तब भाभी मेरे नज़दीक आई। मैंने एक फ्रेंच परफ्यूम लगा रखा था, भाभी नजदीक आई तो उसकी खुश्बू सूंघकर थोड़ी मदहोश होने लगी। उसके बाद भाभी और नज़दीक आई।
तभी नीचे से किसी ने भाभी को नाम लेकर आवाज़ लगा दी तो भाभी मुझे देखते हुए चली गई। मैं भी जब तक वो नजर आती रही, देखता रहा।

Pages: 1 2 3 4 5 6 7

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Online porn video at mobile phone


www.desi sex story.comपहला सेक्सbeti ki pantymastram ki sexy kahaniapapa ki kahanipapa sex kahanibete ke dost se chudaiantravastra hindi storymalkin sex kahanihindi sexy kavitamaa ka balatkar with photosmaa ki burwww desi sex stores comma ka rape kiyabaap ne ki beti ki chudaiaunty ki antarvasnabhai ne chodajeth bahu ki chudaisex stories hyderabadpuja ko chodasexy desi kahanibaap beti ki chudaididi k chodamaa ko maine chodadidi ko hotel me chodamaa ka rapejyothika kissantarvasna imagesmaa ki burwww indian sex kahani combeti ne baap se chudaimaa ki burjyothika mmsantarvasna.usantarvasna imagesbaap beti ki chudai comantar wasna stories wallpaperchudai ki mast kahanichodsnindian sex stories didiantarvasna com imageshindi sexy kahaneypita ne beti ko chodasagi beti ko chodamaa ki chudai story in hindiantarvasna.usbahan ko nanga kiyamaa beta sex kathabeti ne baap ko patayarandi kahanichudai baap sewww kamvasna photos comindiansexstories.net2antarvasna image storymalkin ki chudai ki kahanineha ko chodahot deshi kahanisex kahani with imagenangi behandisi kahanisexy desi khaniyachodsnsasur ne khet me chodahema malini sex storybeti antarvasnaantarvasna sex photosmalkin ki chudai ki kahanibeti ki chodaididi k sathbeti antarvasnaantarvasna desi sex storiesbaap ne beti ki chudai kididi k chodadesikahaanibeti ko chodahot navel kiss storiesbaap ne chodabaap ne beti ko gift diya puzzle