मैं प्यासी सेक्सी भाभी से सेट हो गया


दोस्तो, मेरा नाम है चार्ली! मैं कोल्हापुर, महाराष्ट्र का रहने वाला हूँ. अभी-अभी मैंने बी.ई. पास किया है और ये मेरी अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज़ पर पहली कहानी है. मुझे विश्वास है कि आप इस कहानी को बेहद पसंद करेंगे.
तो दोस्तो, पहले मैं आपको मेरे बारे में बता दूँ. मेरी हाइट लगभग 6 फीट की है और मेरी बॉडी भी ठीक-ठाक है. बात करें मेरे लण्ड की तो वो 6.5″ लंबा और 2.5″ मोटा है.

बात कुछ समय पहले की ही है। मैं एक ऐसी कंपनी में जॉब कर रहा हूँ जहाँ पर मैं स्टूडेंट्स की काउन्सलिंग करता हूँ, जिससे बच्चों को उनकी पढ़ाई में मदद हो जाए। ऐसे में मुझे हर दिन 2 अलग-अलग बच्चों के घर पर जाना पड़ता था और उनकी पढाई में हेल्प करनी पड़ती थी। तो ऐसे ही मैं एक दिन एक बच्चे के घर पर गया जिसका नाम ऋषि था।
जो अभी पांचवी कक्षा में था और उसके घर पर उसकी माँ ही थी। जब मैं उनके घर पर गया और डोरबेल बजायी तो एक साँवली-सी पर बहुत तीखे नैन-नक़्श वाली औरत ने दरवाज़ा खोला। उस औरत को देख कर तो मानो ऐसा लग रहा था कि ऊपर वाले ने उसको बहुत ही ज्यादा फुरसत में बनाया है.

बस कमी इस बात की थी उसका रंग थोड़ा काला था. इसके अलावा उसके हुस्न में कहीं कोई कमी मुझे नहीं दिखाई दी. मैं उसको वैसे ही देखते हुए खड़ा हुआ था कि उसकी आवाज ने मुझे ख़्यालों से बाहर निकाला। जब मैंने उनको अपना परिचय करवाया तो उन्होंने मुझे अंदर बुलाया।
जब मैंने उनसे पूछा तो उन्होंने बताया कि उनके हस्बेंड बाहर देश में जॉब करते हैं और वो अपने बेटे के साथ अकेली ही रहती हैं। उनका नाम संजना था। उनका घर वैसे तो बहुत ही ज्यादा बड़ा था और घर में ऐसी किसी चीज की कोई कमी मुझे कहीं पर भी नजर नहीं आ रही थी. उसके घर में लगभग हर तरह की सुविधा थी. वैसे जब हस्बैंड बाहर के देश में जॉब करते हैं तो घर में सुख-सुविधाओं का होना कोई हैरानी की बात नहीं थी मेरे लिए. घर पर हर एक चीज़ बहुत अच्छे से सज़ा कर रखी हुई थी। जब मैंने सन्जना की तारीफ की तो वह थोड़ा शरमा गई।

मैंने उनको और उनके बेटे को अच्छी तरह से सब पढ़ाई के बारे में बताया तो वो मुझे शुक्रिया कहने लगी कि मैंने उनके बेटे की हेल्प की और मुझसे बार-बार वापस आने की ज़िद करने लगी. वह कहने लगी कि आपके आने से मेरा बेटा पढ़ने भी लगेगा और मुझे भी कम्पनी मिल जायेगी। वैसे तो हमारी कंपनी का रूल है कि हम किसी भी पेरेंट्स को अपना मोबइल नंबर नहीं देते पर मैंने उनको अपना व्हाट्सऐप वाला नंबर दे दिया और उन्होंने सेव कर लिया।

अगले एक हफ्ते तक उसका कुछ कॉल नहीं आया पर उसके बाद उनका कॉल आया। ये कोई अलग नंबर था तो मैंने दो-तीन मिसकॉल होने के बाद उनका फोन उठाया। तो उन्होंने मुझे शाम में उनके घर पर आने के लिए बोला और कहा कि एक प्रॉब्लम है और उनको मेरी हेल्प चाहिए।

मैं जब शाम को उनके घर गया तो उनके साथ उनकी और एक सहेली थी शीना, जो शादीशुदा थी, उनका किसी के साथ अफ़ेयर चल रहा था और वो लड़का अब उन्हें ब्लैकमेल कर रहा था। मैंने उनको अच्छे से समझाया और उस लड़के को अपने एक पुलिस वाले दोस्त की मदद से बहुत कुछ बोल दिया और धमकी भी दी कि इसके बाद वह शीना को तंग ना करे वरना उसको जेल में डाल देंगे।

जब मैं फिर से उनके घर पर आया तो शीना ने मुझे एकदम से गले लगाया और शुक्रिया कहा। मैंने भी बस स्माइल दी और फिर कुछ यहाँ वहां की बातें करके मैं वहां से अपने घर चला आया। जब शीना मुझे गले लगा रही थी तो संजना बहुत उदास दिखी। रात में जब मुझे संजना ने फोन किया तो बताया कि मैं शीना के साथ ऐसे फिर से गले ना लगूँ और वो अच्छी लड़की नहीं है। नए लड़कों का इस्तेमाल करती है और ऐसे प्रॉब्लम में फंस जाती है। तो जितना मैं उस से दूर रह सकता हूँ, रहा करूँ। मुझे उसकी बातों में कुछ अलग ही महसूस हो रहा था जैसे वो ये दिखाना चाह रही हो कि मैं उसके अलावा किसी और पर ध्यान न दूँ.

पहले तो मैंने इस पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया पर उनका रोज़ किसी न किसी बहाने से मुझे मेसेज करना या कॉल करना, यह सब कुछ अजीब ही था। ऐसे ही एक महीना बीत गया।

एक दिन मुझे संजना ने कॉल किया और रात में अपने घर पर बुलाया। मैं अपना दिन का पूरा काम ख़त्म कर के उनके घर रात में 8 बजे पहुँच गया।
मुझे लगा था कि उनका बेटा ऋषि दरवाजे को खोलेगा पर जैसे ही मैंने बेल बजायी तो संजना ने ही दरवाजा खोला। जैसे ही दरवाजा खुला मैं तो बस संजना को देखता ही रह गया। उस वक़्त वो ब्लैक कलर की नाईटी में थी जो बस उसके घुटनों तक ही थी और स्लीव भी नहीं थे। उसको इस रूप में देख कर ही मेरा लण्ड पूरी तरह से अपने आकार में आ गया था। उस नाइटी में उसके मम्मे बहुत ही ज्यादा मस्त लग रहे थे और बाहर आने को बेताब लग रहे थे। नीचे उसकी मखमली जाँघें तो मानो ऐसी लग रही थी कि अभी अभी दूध से नहा कर निकली हो और उनको मक्खन में तराशा गया हो।
मेरा मन कर रहा था कि वहीं पर पटक-पटक कर उसकी चूत का भुर्ता बना दूँ, उसके जिस्म को पूरी तरह से नोंच लूँ पर फिर भी मैंने अपने आप को काबू में रखा। आप सोच सकते हो कि जब कोई इतनी खूबसूरत बला आपके सामने हो वो भी इस अवतार में तो आप अपने आपको कैसे संभाल पाओगे??

Pages: 1 2 3 4

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Online porn video at mobile phone